प्राकृतिक सुंदरता एवं त्वचा की देखभाल के लिए कुछ टिप्स- Natural Beauty Skin Care Tips

आज कल के व्यस्त  समय मे हम अक्सर अपना ख्याल रखना भूल जाते हे। कई बार हम खुद को शीशे में देखते और सोचते कि काश हम और अच्छे या सुन्दर दिखते। तो किस बात की देरी है, चलिए जानते है कुछ ऐसे आसान उपाय जिसे हम अपनी रोज के काम के बीच में कर सकते है और अपनी त्वचा को प्राकृतिक तरीके से सुन्दर बना सकते है। आज हम आपको इन सवालों के जवाब देंगे जैसे-

 . त्वचा कितने प्रकार की होती है?

. कैसे पता करे की हमारी त्वचा  कौन से  प्रकार की है ?

. किस कारण से हमारी त्वचा ऐसी होती है ?

. त्वचा की  देखभाल कैसे करे?

. त्वचा की देखभाल करते समय किन बातो का ख्याल रखे

. त्वचा के लिए घरेलू नुस्के?

  कुछ सवालो के जवाब:-

 वैसे तो हमारी स्किन के कई प्रकार होते पर उनमे से Main पांच  प्रकार होते है

1 . Normal skin ( सामान्य त्वचा )सामान्य त्वचा सुनकर आपको इतना अंदाज़ा हो गया होगा की हम ऐसे त्वचा की बात कर रहे है जो हर मायने मे अच्छी तरह से संतुलित हो। जिनकी सामान्य त्वचा होती है उनकी skin ना ज्यादा तेलिया और ना ज्यादा रूखी होती है। उनकी त्वचा उतना ही sebum ( सीबम जो sebaceous gland से उत्पादित होता है, एक तरह का पदार्थ है जोकि तेलिया होता है) उत्पादित करती है जिसे त्वचा हेल्थी हो और उसमे नमी बनी रहे, मुलायम, चिकनी, छोटे छिद्र और  साफ चेहरा होती है।

 कैसे पता करे की हमारी सामान्य त्वचा है?

* आपकी त्वचा में बहुत ही छोटे  छिद्र होते है।

*  इसमें कोई गंभीर संवेदनशील नहीं  होती  है।

* त्वचा साफ़, मुलायम, चिकनी (चमकदार ) रहती।

* कोई दाग -धब्बे  नहीं होते।

 2 .  Dry skin (रुखी त्वचा)- रूखी त्वचा बहुत ही असुविधाजनक होती है। जिसमे आपको खुजली, कठोर, सुस्त त्वचा जैसी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन सबका कारण यह  है कि इनमे सही मात्रा में  sebum उत्पादित नहीं होता और फिर स्किन में ना ही नमी, कोमलता या हेल्थी रह पाती है।

dry skin

कैसे पता करे की हमारी रुखी त्वचा है?

* त्वचा बहुत फटी, रुकी, दरार वाली होगी

* अगर आप उसमे नाखून से रेखा खींचे तो उसमे रेखा बन जाएगी 

* बहुत खुजली और कभी-कभी स्किन भी बाहर आ जाती या खून भी निकल आता हो

 causes (कारण) :

rukhi twacha कभी-कभी वातावरण के कारण भी हो जाती है। ऐसा ज्यादातर सर्दी में  हमारी skin फटने या कठोर  हो जाती। दूसरा कारण मौसम, तापमान, हवा में नमी ना हो, अगर आप बहुत गरम पानी से रोज नहाते तो ये आपकी त्वचा को भी धीरे-धीरे खराब करने का काम करती है। इसके अलावा कुछ लोगो को हाथो की स्किन में पानी के कारण खुजली, रूखी और त्वचा निकलने जैसी आदि परेशानी होती।

त्वचा की देखभाल (skin care) :

* ऐसे डिटर्जेंट या साबुन ना इस्तेमाल करे जिसमे शक्तिशाली रासायनिक हो या फिर ग्लव्स पहने बचाव के लिए

* अपने स्किन में आप नारियल का तेल , पेट्रोलियम जेली भी  लगा सकते है जिससे त्वचा में नमी बनी रहेगी

* अगर आप गरम पानी से नहाते है तो गरम की जगह एकदम गुनगुना पानी का use करे, जिससे आपकी त्वचा ख़राब ना हो

*  खाने में आप अनार , अंडे , हरी पत्तेदार सब्जी जिनमे मिनरल , विटामिन्स हो और ओमेगा 3 पाया जाता  जैसे – बादाम आदि लें

 3 . Oily skin  (तेलीय त्वचा) – तेलिया त्वचा अपने नाम की तरह एक ऐसी त्वचा होती है जिसमे तेल ही तेल पाया जाता है। कैसे ? क्यों की यहाँ पर (sebum ) सीबम का उत्पादित जो sebaceous gland   से होता वो बहुत ज्यादा मात्रा में पाया  जाता हे। चेहरे का वो हिस्सा ज्यादा sebum मिलता है वो चमकदार हो जाता है और मुहासें, दाने की दिक्कत शुरू होती है। इसके नुक्सान के साथ कई फायदे भी है,यह skin की रक्षा कर healthy  बनती और नमी का भी ख्याल रखती है। इसे हम मोटी त्वचा भी बोल सकते और यह त्वचा में झुर्रियो का होना कम करती है।

oily skin

कैसे पता करे की हमारी तेलीय त्वचा हे ?

* अपने हाथो से या टिश्यू पेपर से स्किन को पोछेंगे तो तेलिया जैसा महसूस होगा

* मुँहासे, फुंसी 

* आपके  छिद्र (pores) बड़े हो जाते है, विशेष रूप में नाक, माथा, ठोड़ी में

* ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स ( Blackheads & Whiteheads )

causes (कारण) :

पहला कारण तो हमने ऊपर समझ लिया Sebum और दूसरा हमारे आनुवंशिकी या माता -पिता में से किसी की त्वचा तैलीय होने से भी हो सकती है। विशेष कारण यौवन (puberty) , गर्भावस्था, मेनोपॉज़, मासिक और हार्मोनल असंतुलन  से भी हो जाती है।

त्वचा की देखभाल (skin care) :

* मुँह को दिनभर में दो बार अच्छी तरह से धोएं और रात में सोने से पहले जरूर साफ़ करे। ऐसे मुँहासे की दिक्कत कम होती है

 * आप एलोवेरा जेल, शहद 15 min तक लगा सकते है और फिर ठंडे पानी से धुले

* तेल रहित क्रीम, साबुन और कॉस्मेटिक इस्तेमाल करे

* ऐसे फेस मास्क (face mask) जो ज्यादा sebum को कम करेगा जैसे – चिकनी मिट्टी 

* ब्लॉटिंग पेपर्स यह आपके चेहरे से तेल को अलग करता और  खरीद में बहुत सस्ता भी  होता हे। दिक्कत कम होगी

* टमाटर में एक चमक चीनी डाल करके उसे हलके हाथो से त्वचा पर रगड़ आराम से खुद को नुक्सान ना पहुँचाए और  10min के बाद मुँह को ठंडे पानी से साफ़ करले

 4. Sensitive skin (संवेदनशील त्वचा)  – संवेदनशील त्वचा एक छोटे से  बच्चे की त्वचा की तरह नाजुक होती है। जिसमे जरा सी लापरवाही बहुत भारी पड़ती है। इसके चलते हमे  बहुत  सी असुविधाजनक स्थिति से  गुजरना पड़ता है जैसी  जलन, गुजलि, रूखापन  दर्द और  झुनझुनी।

oily skin

 कैसे पता करे की हमारी संवेदनशील  त्वचा है?

* धूप में जाने से अगर आपकी त्वचा में जलन, लालपन होना।

* कोई भी क्रीम लगाने से खुजली,एलर्जी।

*  त्वचा में छोटे-छोटे लाल दाग।

* दाने, फुंसी, चकत्ते l

causes (कारण) :

हमारी त्वचा बहुत से वजह से इस प्रकार हो जाती है। सबसे पहला कारण की आप ऐसी कोई कठोर या शक्तिशाली रासायनिक उत्पाद इस्तेमाल कर रहे हो, अब वो साबुन, क्रीम, मेकअप किसी क्रीम का गलत असर कुछ भी हो सकता है। दूसरा गलत क्रीम जो आपको सूट नहीं हो रही , गलत ब्रांड या प्रकार का फेसिअल  कभी-कभी हमें प्राकृतिक चीजे से भी ये दिक्कत सुरु हो जाती है जैसे सूरज की तेज रौशनी , प्रदूषण , धुल ,UV Rays (सूरज से ऐसी नुकसान पाहुचने वाली किरण जो  UVA  और UVB दोनों से मिलकर बनी होती) त्वचा को खराब कर उन्हें नाजुक/कमजोर  बनाती है।

 त्वचा की देखभाल (skin care) :

* आपको हमेसा बाहर जाने से पहले त्वचा पर sunskin क्रीम मॉइस्चराइजर विथ सपफ ( sunscreen cream moisturizer with SPF ) लगानी चाहिए। ताकि यह आपकी स्किन की रक्षा करे जैसे – मामयार्थ हीड्रा जेल (mamaearth  hydra gel)

* ऐसे साबुन या फेस वाश use करे जिसमे कोई शक्तिशाली रासायनिक ना  हो और आपकी त्वचा से हेअल्थी आयल  यानि (sebum) को पूरी तरह ना  ख़तम करे और नमी भी हो  जैसे – (Cetaphil’s gentle Skin cleanser)

* बाहर जाने पर आप कैप या सनग्लास भी लगा सकते है

* कोई शक्तिशाली रासायनिक वाली क्रीम, मेकअप के बदले और्वेदिक से बने पदार्थ का इस्तेमाल करे जैसे – एलोवेरा जेल , नेचुरल  सेंसिटिव स्किन लोशन  (natural  sensitive skin lotion ), Cetaphil’s gentle Skin cream (सटाफिलस गेंटल स्किन क्रीम)

*  त्वचा को ठंडे पानी से जरूर धुले, इससे आपकी स्किन को ठंडक और राहत मिलेगी।

 5 . Combination skin (मिश्रत त्वचा) – मिश्रत त्वचा ऐसी त्वचा होती है जो दो या दो से ज्यादा प्रकार की त्वचा से बननी हो – रूखी , तेलिया , संवेदनशील भी हो सकती हे। हमारी स्किन हमारे माता – पिता के वजह से भी एसी हो जाती हैl ऐसी  स्किन जो सर्दी में रूखी और गर्मी  में तेलिया हो जाती और  चेहरे के  कुछ हिस्से में जहाँ  sebum  ज्यादा मात्रा में उत्पादित  होता वहाँ चमक सी होती है। हम इसको  T-  zone (माथा, नाक, गाल ) भी बोलते और यह  मौसम के हिसाब से बदलती रहती हे।

Combination skin

कैसे पता करे की हमारी मिश्रत त्वचा है?

* आपके त्वचा के छिद्र (pores) बड़े  होंगे

* ब्लैकहेड्स और व्हिटहेड की समस्या होती है, क्योंकी आपकी त्वचा में तेल T- zone (माथा नाक ,गाल) में जमा हो जाता है, जिससे ये परेशानी होती।

* मुहासे, सूखे धब्बे (dry patches)

* स्किन सुस्त  हो जाती है

 causes (कारण) :

 * हमारी स्किन हमारे आनुवंशिकी  के कारण या माता – पिता के ऐसी त्वचा होने की वजह से भी हो जाती है। 

* किसी शक्तिशाली रासायनिक ब्यूटी प्रोडक्ट का खराब या उल्टा असर वो क्रीम, साबुन से भी त्वचा पर हो सकता है।

 (Things must know while taking Care of Skin)

त्वचा की देखभाल करते समय किन बातो का ख्याल रखे

चेहरा  हमारी ज़िन्दगी का वो अयाना है जो सब कुछ बता देता है, तो हमे इसका ख्याल ऐसे रखना चाहिए की जब-जब हम या कोई और इसमें देखे तो सिर्फ खुशी, सुंदरता देखे  ना की dark circle, acne , black spot (काले दाग ).

1 . Stress  – इसके वजह से आधी शरीर की बीमारी और साथ में चेहरे  की  भी समस्या  शुरू हो जाती है, हम सबसे पहले स्ट्रेस की बात करते है। क्योंकी यही वो पहला कारण है जिसे हमारे  चेहरे में आँखों के नीचे गड्ढे, झुर्रियां, मुँहासे और धीरे-धीरे glow भी कम होजाता। आप खुद को व्यस्त रक सकते है, कही  कोई काम में, exercise या  फिर  किताबे पढ़ सकते, योगा (yoga) , घूमना (walking) , दौड़ना (running) मन के अनुसार कोई क्रिया कर सकते है। बस खाली नही बैठना है, क्योंकि यह आपके हेल्थ या स्किन के लिए बिलकुल ठीक नही। ऐसे आपको फालतू की tension ,गलत बाते ,depression  जैसी चीजे से सामना करना पड़ता  है। जिससे शरीर पर असर पड़ता है।

2. proper sleep – दूसरा सबसे बड़ा कारण है नींद का पूरा ना होना। इससे तवचा hydrate (रुखापन ) नही हो पाती है, बालो का झड़ना और फिर ना उगना, आँखों का फूल जाना, चेहरा मुरझा सा जाता। इंसान को  दिन भर में कम से कम  7 या 9 घंटे की पूरी नींद जरूर लेनी चाहिए, ताकि यह त्वचा को हेअल्थी, हाइड्रेटेड ,मुंहासे और झुर्रियां को कम, ख़राब तव्चा को सही करने में मदद करते है।

3 . Cosmetic product – हम सबको मेकअप करना  बहुत ज्यादा पसंद होता है। क्यों की वह पहले से ज्यादा Beautifull बना देती है।  लेकिन कभी यह सोचा है की ऐसे क्रीम, फाउंडेशन जिनमे अधिक मात्रा में कैमिकल होते और हमारी skin को ख़राब कर रही होती है। मेकअप का लगभग 60 % हमारी स्किन सोक लेती है। जोकि बिलकुल भी तव्चा केलिए सही नहीं है। इन सब में हमारी प्रकृति सुंदरता खो जाती है, तो हम सबको इस बात का धयान रखना चाहिए की केवल प्रकृति और और्वेदिक से बनी क्रीम का इस्तेमाल करे या  फिर इनमे शक्तिशाली रासायनिक मौजूद ना हो,  home remedies का इस्तेमाल कर आप skin को खूबसूरत के साथ उसकी प्राकृतिक सुंदरता  बरकरार  रख सकते है।

home remedies (त्वचा केलिए घरेलु नुस्के )

1 . बेसन का उप्टन – इसे बनाने के लिए हमको 2 छोटे छोटे चम्मच बेसन, एक चम्मच दही, दो चम्मच गुलाब जल को मिला ले और फिर लगा कर 20min सूखने दे और उसके बाद  पानी से धूल ले। 

2 . मुल्तानी मिटटी – इसमें हमको २ छोटे चम्मच मुल्तानी मिटटी ,एक चम्मच दही , दो बड़े चम्मच गुलाब जल मिलाकर तैयार कर ले। यह आपकी तवचा को टाइट , चमकाने का काम करेगी। 

3 .आलू  का रस – आपको नाम से तो पता चल गया होगा की इस को  बनाने  बहुत कम सामान चाइए।  पहले एक छोटा आलू लेकर उसको छील ले और साफ करके उसका रस निकाल कर ,एक चम्मच बेसन और निम्बू की 4 बून्द डालले ,जिन लोगो को जइयो की दिक्कत है उनके लिए  बहुत फैयदेमन्द होगी।

 कुछ सवालो के जवाब :

 Q1.  हमारी स्किन या त्वचा समय के साथ  बदलती है?

Ans . इंसान की त्वचा समय के साथ बदल जाती है, कई कारण है जैसे – प्रकृति, प्रदूषण, होर्मोनेस (hormones ) , गर्भावस्था , puberty , मेनोपोज़, माशिक  और एक उम्र के बाद हमारी स्किन पतली हो जाती और कई बदलाव भी होने लगते है।

Q 2 . झाइया का उपाए ?

Ans .  वैसे ये दिक्कत पहले एक उम्र पर होती थी, पर आजकल हर किसी को ये परेशानी है। यह आपको किसी क्रीम का गलत या उल्टा असर के कारन भी हो सकता है और शक्तिशाली रासायनिक वाली क्रीम से भी जैसे – Tvenovate.

 आइए इसके घरेलू इलाज जाने, आलू का रास जी हाँ,आलू को छील कर उसका रस निकाल कर दो बून्द निम्बू डालकर लगाए और ठंडे पानी से थोड़ी देर बाद धूल ले, अतः क्रीम भी लगा सकते है पर नेचुरल इलाज ज्यादा सुरक्षित होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *