Khuda Haafiz Review- एक्शन और इमोशन का कॉम्बिनेशन

action star Vidyut Jammwal की मूवी “Khuda Haafiz14 अगस्त को Disney plus hotstar पर रिलीज़ हो चुकी हैं। फिल्म “Yaara” के बाद एक बार फिर एक्शन इमोशन का कॉम्बिनेशन लेकर विद्युत जामवाल हाज़िर हैं। Director Faruk Kabir फिल्म “Allah Ke Banday” के बाद “Khuda Haafiz” लेकर आये हैं। उन्होंने एक action thriller दिखने की काफी कोशिश की हैं। फिल्म में एक्शन और लोकेशन ठीक हैं लेकिन इसके अलावा बहुत कुछ ऐसा हैं जो आपको निराश कर सकता हैं। कहानी काफी हद तक हकीकत के करीब आती नहीं दिखती हैं।

Khuda Haafiz की स्टोरी

फिल्म का सेटअप ठीक हैं। कुछ खास नया नहीं हैं। कहानी है लखनऊ के समीर चौधरी (Vidyut Jammwal) और नरगिस (Shivaleeka Oberoi) की। एक हिन्दू और मुस्लिम लड़की की जिनका पहले निकाह होता हैं फिर फेरे होते हैं। समीर और नरगिस दोनों वर्किंग कपल होते हैं। दोनों ठीक से सेटल भी नहीं हो पाते हैं। कि सन 2008 की आर्थिक मंदी आ जाती है। वही से दोनों की लाइफ बदल जाती हैं। समीर की एजेंसी बंद हो जाती हैं, और नरगिस की नौकरी छूट जाती हैं, दोनों विदेश में नौकरी पाने के लिए अप्लाई करते हैं। लेकिन होता यू हैं कि नरगिस का अप्रूवल पहले आ जाता है।

एक दग़ाबाज एजेंट किसी तरह उसको अकेले झांसा देकर अरब देश नोमान भेज देता हैं। ऐसे में नरगिस अकेले ही नोमान के लिए उड़ान भर देती है। कुछ दिनों के बाद समीर के पास एक फोन कॉल आता है, जिसमें नरगिस अपने आपको बुरी तरीके फंसा बताती है। वही से आता हैं कहानी में नया मोड़, समीर अपनी नरगिस को खोज़ने और बचाने के लिए समीर नोमान पहुंच जाता है। जहाँ उसकी पत्नी वेश्यावृत्ति का पेशा करने वालों के जंगल में कही खो चुकी हैं। अब देखना यह हैं कि क्या समीर अपनी पत्नी को बचा पाता हैं और अगर हाँ तो कैसे ?

फिल्म में क्या हैं खास

विद्युत जामवाल की हर फ़िल्मों में देखने को मिलता है, वह है एक्शन। एक बार फिर आपको विद्युत की बेहतरीन बॉडी और एक्शन सीन्स देखने को मिलेंगे। इस मामले में एक बार फिर विद्युत निराश नहीं करते हैं। लेकिन इसमें आपको “Cammando” के लेवल का एक्शन नहीं मिलेगा। फ़िल्म की लोकेशन और भाषा का ख्य़ाल रखा गया है। नोमान, जिस देश को कागज पर गढ़ा गया है, वह काफी हदतक रियल लगता है। लोकेशन को स्क्रीन पर उतारने के लिए अच्छी सिनेमेटोग्राफी और एंडटिंग का इस्तेमाल किया गया है। अलग अलग भाषा का इस्तेमाल किया गया हैं जिसको आपको समझना पड़ेगा। शिवालिका ओबेरॉय खूबसूरत दिखी हैं। Annu Kapoor के अभिनय की तारीफ की जा सकती हैं।

Film में कौन कौन हैं ? क्या रह गयी कमी

Film Starcast की बात करे तो Vidyut Jammwal और Shivaleeka Oberoi के साथ- साथ Aahana Kumra, Shiv Panditt और Annu Kapoor मुख्य भूमिका में नज़र आ रहे हैं। Vidyut एक अच्छे एक्टर हैं, उनके एक्शन के काफी fans हैं। लेकिन इमोशनल सीन्स में वे बिलकुल भी फिट नहीं बैठते हैं। शिवलीका ओबेराय बस फिल्म में खूबसूरत दिखी हैं और मूवी में शुरुवात और अंत में ही नज़र आई हैं। उनसे ज़्यादा स्क्रीन पर अन्नू कपूर, शिव पंडित और आहना कुमरा नज़र आते हैं।

फारुख़ कबीर की कोशिश काम नहीं आती है। कई छोटी-छोटी चीजें अजीब लगती हैं। जैसे दुनिया के सबसे बड़े तस्करों के पास पूरी फौज़ है, लेकिन चलाने के लिए सिर्फ एक पिस्टल, इसी तरह से फिल्म में कुछ बहुत से सीन्स ऐसे हैं जो आपके समझ के परे हैं। ख़ुदा हाफ़िज का एक्शन एक्सट्रेक्शन के लेवल का नहीं है। कबीर ने फिल्म की कहानी एक एक्शन हीरो पर ही लिखी हैं , इसलिए अगर आप विद्युत के fan हैं तो यह मूवी आराम से देख सकते हैं।

“Abhay 2” Web series लांच